ऐसे में बलवन्ति काॅलेज का संचालन एक वरदान साबित हुआ। विद्यालय की व्यवस्था व अनुशासन से प्रेरित अभिभावक ने अपनी बेटी को शिक्षित करने का साहस किया और घीरे-धीरे विद्यालय का प्रभाव उच्च शिखर की ओर बढने लगा है इस प्रयास में प्रधानाचार्य, शिक्षक एवं शिक्षिकाऐं बधाई के पात्र हैं।
http://www.asinfovision.com